Splendor song Lyrics Translation and Meaning in Hindi by Satbir Aujla

Splendor song Lyrics Translation and Meaning in Hindi by Satbir Aujla is the Latest Punjabi song sung by Satbir Aujla, and Splendor song lyrics are also penned down by Satbir himself. In contrast, the music of this brand new song is given by Sharry Nexus, and Garry Nawab directs the video.

Splendor song Music Video

Splendor song Details :

  • Song: Splendor
  • Singer: Satbir Aujla
  • Lyrics: Satbir Aujla
  • Music: Sharry Nexus
  • Label: GeetMP3

Splendor song Lyrics by Satbir Aujla 

Splendor Song Lyrics  translation and meaning in Hindi

माथा माथ चलदा सी

वैभव तेरा वे
तेरे पीर ते सर रखके
सी जी लगदा मेरा वी

तेरा भोला जेहा चेहरा तक के
बडा औख संभ दी सी
वी मेन जान नु

वैभव ते अउन वले मुंडेया
तउ हाले तक चीते आ राकन नू
हीरो होंदे ते आउन वाले मुंडेया
तउ हाले तक चीते आ राकन नू

चड दा सी जेहदी वे
तु झूथी कैंटीन विच
कीन्हि वैरी पीति
आ मेन चा वे

हर रंग दी सी चुन्नी किट विच रखड़ी
वे तेरी पग नाल लैंदी सी मिला वी

टॉपर राकाँ ने वी बंक बडे मारें ने
तेरे पचे चन्ना चन्ना
गीन बडे तारे ने

चन्न विचण दीखै ऐ तू वे
तकि अए जादोन असमानन नू

वैभव ते अउन वले मुंडेया
तउ हाले तक चीते आ राकन नू
हीरो होंदे ते आउन वाले मुंडेया
तउ हाले तक चीते आ राकन नू

बस फ्रेंड आपा रे गे गेस बास डोविन
अगे हि ना वाधि कदे बाट वे
अज वि वं मं थंड विच बं लनी आ
तू जेहदा गिफ्ट च डिट्टा सी स्कैप वे

खुरे चन्ना किन्नी वर
हेक नाल लाई वे
तेरे नाल चोरी इक फोटो सी करै वी

अज वि वं साम्ब साम्ब राखडी
दिल चंद्र जा स्मजहान नू

वैभव ते अउन वले मुंडेया
तउ हाले तक चीते आ राकन नू
हीरो होंदे ते आउन वाले मुंडेया
तउ हाले तक चीते आ राकन नू

कक्षा विच चन्ना ओहिद्दीन न कोय सी
फेयरवेल वल दीन कल्ली बेह के रॉय सी
आखि़र सी मौका तेनु चन्ना कुज केहन दा
चंद्रे जे दिल कोलो हिम्मत न होई सी

सतबीर वे महदियन
हलातन आली हो गइ आ
सच दसानन हुन तान
जवकन आली हो गइ आ

बही मेरे चुदा पै गया
कोइ ले गया वैया के तेरी जान नू

नेक्सस साझा करें!

वैभव ते अउन वले मुंडेया
तउ हाले तक चीते आ राकन नू
हीरो होंदे ते आउन वाले मुंडेया
तउ हाले तक चीते आ राकन नू

ना भुलि चुत स्प्लेंडर दे
मैनु याद आंडे नी चीसा च
कीन्हा हाय पगलपन मेरा
जो लखी बैठा ए गीनन च
तू लखि बैठा ए गेनन च

Splendor song Lyrics by Satbir Aujla 

  • Leave a Comment